जहाँ चाह, वहाँ राह ! | एक नाम जो सेवा का पर्याय बना – विष्णु कुमार जी |गुजरात बाढ़ – स्वयंसेवकों का भागीरथ अभियान

सेवागाथा - संघ के सेवाविभाग की नई वेबसाइट

परिवर्तन यात्रा

दशहरे मेले में बाल रामायण की संगीतमय प्रस्तुती !

ममता की छाँव-सुरमन

शैलजा शुक्ला

यूं तो कुंगफू और क्रिकेट में कोई मेल नहीं है, पर पूजा, राहुल, अमन और गुड्डू में है। भले ही पूजा ने जूनियर ओलम्पियड में कुंगफू में गोल्ड जीत हो और राहुल, अमन और गुड्डू चैन्नई में नेशनल लेवल की कबड्डी प्रतिस्पर्धा में हिस्सा लेकर नाम कमाया हो । इन अलग- अलग स्पोर्ट्स के उभरते सितारों को जो एक डोर आपस

और जानिये

समर्पित जीवन

नव दधीची नानाजी देशमुख

एक निष्काम कर्मयोगी -नानाजी देशमुख

विजयलक्ष्मी सिंह

प्रसिद्ध उद्योगपति घनश्यामदास बिरला आज से 77 वर्ष पहले इस युवक को अपना पर्सनल सेक्रेटरी बनाना चाहते थे । बढ़िया सैलरी के साथ रहना व खाना मुफ्त था। 21 वर्ष के इस युवक ने राजस्थान में फेमस प्लानी के बिड़ला काॅलेज में फुटबाल से लेकर वाद-विवाद व पढ़ाई हर क्षेत्र

और जानिये

सेवादूत

बाल-बाल बचे मासूम

अपर्णा सप्रे

अग्नि जब विकराल रूप धारण करती है, तब मनुष्य बेबस हो जाता है ।किंतु मनुष्य के साहस के समक्ष कभी-कभी आग भी समर्पण कर देती है । 23 नंवबर 2017 ये का दिन इंदौर (मध्यप्रदेश) के सबसे बड़े शासकीय हास्पीटल एम वाय के इतिहास में काली स्याही से लिखा जाता यदि चंद फरिश्तों ने अपनी जान की बाजी लगाकर 48 बच्चों को आग की भेंट चढ़ने से बचा न लिया होता ।बच्चों के इमरजेंसी वार्ड में लगी आग में सबकुछ स्वाहा होने से पहले वार्ड के कांच के शीशे तोड़कर तीन लोगों ने बच्चों को निकालना शुरू किया उन्हे देखकर हास्पीटल के बाकी कर्मचारी भी मदद के लिए आगे आए ।दिनेश सोनी ,रमेश वर्मा व गजेंद्र रसीले ये तीनो हास्पीटल में गरीब मरीजो के लिए चलने वाले सेवाभारती के सेवाप्रकल्प के कार्यकर्ता थे ।गरीब व असहाय मरीजों को जांच से लेकर इलाज तक हर संभव मदद करने के लिए सेवाभारती इंदौर के द्वारा ये हेल्पिंग सेंटर गत तीन वर्षों से सेवाभारती सेवाप्रकल्प के नाम से हास्पीटल के परिसर में चलाया जा रहा है।इस प्रोजेक्ट के तहत सहारा वार्ड में

और जानिये
//