जहाँ चाह, वहाँ राह ! | एक नाम जो सेवा का पर्याय बना – विष्णु कुमार जी |गुजरात बाढ़ – स्वयंसेवकों का भागीरथ अभियान

सेवागाथा - राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के सेवाविभाग की नई वेबसाइट

परिवर्तन यात्रा

राजेंद्र प्रसाद अस्पताल कांगडा में मरीजों की मदद की मुहिम

पर्वत के उस पार ...।हिमाचल में सेवाभारती की सेवायात्रा

शैलजा शुक्ला

पर्वतीय क्षेत्रों में कुछ दिन सैरसपाटा करने आए पर्यटकों के लिए बर्फ़बारी जहाँ अलौकिक आनंद सरीखा है, वहीं इन हॉट टूरिस्ट्-डेस्टिनेशन्स से थोड़ा दूर अनाम से पर्वतीय इलाकों में रहने वाले ग्रामीणों के लिए बर्फबारी एक ऐसा संकट है, जो ....

और जानिये

समर्पित जीवन

महान तपस्वी - कात्रे गुरु जी

चले निरंतर साधना - कात्रे गुरुजी

विजयलक्ष्मी सिंह

कुष्ठ रोग की कल्पना मात्र से ही मन सिहर उठता है, गल चुके हाथ पैर, घावों से रिसता मवाद, आसपास भिनभिनाती मक्खियाँ, समाज से बहिष्कृत घृणा के पात्र, नारकीय जीवन जीते रोगी । आज से 50 वर्ष पहले जब इनके अपने इन्हें अभिशाप मानकर त्याग देते थे, तब किसी ने अपने स्नेह

और जानिये

सेवादूत

डूबते ‘केरल’ की पतवार बना ‘संघ’

अंबरीष पाठक

मध्य जुलाई 2018 – मानसून अभी शुरू ही हुआ था , देश के बाकी हिस्से में वर्षा जहाॅ राहत की फुहार बनकर बरस रही थी वहीं केरल में सबकुछ ठीक नहीं था।  केरल- जिसे गॉडस ओन कंट्री (देवों का अपना देश) भी कहा जाता है- में जारी भारी वर्षा पिछले सारे रिकार्ड तोड़े दे रही थी। मौसमविज्ञानियों के माथे पर चिंता की लकीरें गहराने लगीं थीं। अंततः 8 अगस्त 2018 की शाम आते-आते केरल  मे स्थित सभी 54 बांधों का वाटर लेवल खतरे की जद में था। और………. केवल  24 घंटे के भीतर इनमें से 34 बांधो के गेट खोलने पड़े। 26 वर्षों में पहली बार इडदुकु बांध के पांचों द्वारों को एकसाथ खोला गया। अब लगभग पूरा केरल अभूतपूर्व जल प्रलय की जद में था। 

और जानिये